Amaryllis Lily कब लगाए और इससे जुड़ी सारी जानकारी | amaryllis in hindi

amaryllis in hindi

ऐसे बहुत ही कम पौधे हैं जो खूबसूरत फूल भी देते है और बिना फूल के भी बहुत खूबसूरत दिखते हैं और ये सब भी बिना ज्यादा care के । अगर आप भी ऐसे पौधे की तलाश में हैं तो आप की तलाश Amaryllis Lily पूरी कर सकता है । Amaryllis Lily कैसे लगाए और उसकी केयर कैसे करे इसकी पूरी जानकारी आपको यहाँ मिलेगी । amaryllis in hindi

amaryllis in hindi

 

Amaryllis Lily बहुत आसानी से लग जाने वाला perennial प्लांट है और इसके नखरे भी कम होते हैं और लगभग हर तरह कि condition में आसानी से लग जाता है ।

Amaryllis Lily का परिचय amaryllis in hindi

इसके नाम से कई कहानिया जुड़ी है वैसे वानस्पतिक रूप से यह फैमिली Amaryllidaceae के अंतर्गत आता है और इसका वानस्पतिक नाम amaryllis belladonna है । यह मूल रूप से दक्षिण अफ्रीका के Olifants नदी घाटी में पाया जाने वाला पौधा है जो वास्तव में लिली परिवार का पौधा नहीं है पर दिखने में समान होने के कारण इसको लिली ही कहा जाता है ।

यह एक Evergreen वार्षिक पौधा है और इसे Survive करने के लिए ज्यादा प्रकाश या पानी की आवश्यकता नही होती है और ऐसा माना जाता है कि एक बल्ब अगर सही से रखा जाए तो वह 75 साल तक फूल दे सकता है । और सबसे खास बात कुछ ही सालों में एक बल्ब से दर्जनों बल्ब तैयार हो जाते हैं ।

amaryllis in hindi
कली से फूल तक का खूबसूरत सफर

Amaryllis कहाँ से प्राप्त करें   

इसको मैंने नर्सरी पर कम ही देखा है फिर आप पता कर सकते हैं या फिर माली से कह कर मँगवा सकते हैं । खरीदते समय यह ध्यान रखें कि बल्ब जितना बड़ा और स्वस्थ होगा फूल भी उतनी ही ज्यादा संख्या में मिलेंगे ।

वैसे सबसे आसान online मँगवा सकते हैं , हो सकता है थोड़ा महंगा मिले पर 100 रु के आसपास मिल जाना चाहिए । वैसे वैसे प्लांट्स या बल्ब जो कुछ समय बाद खुद से नए पौधे दे सकते हैं उन्हें थोड़ा महंगा भी लिया जा सकता है ।

अपने दोस्तों या आसपास कहीं लगा हो तो आप वहाँ से ले सकते हैं या फिर फेसबूक पर गार्डेनिंग ग्रुप्स जॉइन कर लीजिये और वहाँ पर देखिये अगर कोई दे सके तो ले लीजिये ।

मिट्टी कैसे तैयार करें 

कोई भी साधारण Kitchen Gardening के लिए use होने वाली Soil का प्रयोग किया जा सकता है ।  जिसमें आपको अच्छी Drainage और Aeration का ध्यान जरूर देना है ।

इस के लिए आप इस माप का प्रयोग कर सकते हैं

  1. Garden Soil       30%
  2. River Sand        30%
  3. Vermi Compost    40%

गमला select करते समय साइज़ का विशेष ध्यान दें , अगर एक बल्ब लगा रहे हैं तो 6 से 8 इंच का गमला सही रहेगा ।

यह भी पढ़ें – किचन वेस्ट से खुद ही खाद बनाए और साल के हजारों रुपये बचाएं

नया बल्ब लगाने का सही समय

नया बल्ब लगाने का सही समय अक्टूबर – नवंबर रहता है इस समय लगाए गए बल्ब से दिसंबर जनवरी में अच्छे फूल आ जाते हैं । लगातार फूल पाने के लिए आप 10-15 दिन के गैप पर भी बल्ब लगा सकते हैं ।

amaryllis in hindi

जब आप नया बल्ब लगते हैं तो अक्सर इसमें direct कली ही निकल आ जाती है यही पत्तियाँ बाद में आती हैं और फूल पहले इसलिए इसको Naked Lily भी कहते हैं यही बिना पत्तियों के सिर्फ फूल आना ।

नया बल्ब कैसे लगाएँ

गमले में hole करने तथा उस पर कंकड़ आदि लगा दें तथा गमले को लगभग पूरा potting soil से भर दें , सिर्फ ऊपर से 1 इंच छोड़ दें ।

अगर 6 से 8 इंच वाला गमला लिया है तो उसमें 1 बल्ब थोड़ा था मिट्टी हटा कर लगा दें , लगते समय ध्यान रखें कि जड़ वाला हिस्सा नीचे रखें और मिट्टी से चारों तरफ से कवर कर दें पर ध्यान रहे की बल्ब का 25 -30 % हिस्सा मिट्टी से ऊपर रहे ।

पहली बार पानी देते समय इसे पूरा पानी से भर दें जब एक्सट्रा पानी hole से निकल जाए तो गमले को किसी bright जगह जहां indirect sunlight आती हो रख दीजिये ।

मिट्टी अगर सूखी नहीं लग रही तो शुरू में ज्यादा पानी न दें जब तक कि 2-3 नई पत्तियाँ न उग आयें ।

पुराने पौधे से नया पौधा कैसे बनाएँ

अगर आपके पास पहले से ही 3-4 साल पुराना पौधा लगा हुआ है और उसमें ढेर सारे बल्ब निकल आए हैं तो उससे नए पौधे तैयार करना जरूरी है क्यूंकी अब उसमें पोषण की कमी के कारण ज्यादा फूल नही आएंगे ।

amaryllis in hindi
18 अक्टूबर को बल्ब अलग अलग किए गए

गमले से पूरे पौधे को मिट्टी सहित बाहर निकाल लें ऐसा करने पर आप पाएंगे कि जड़ों ने पूरे मिट्टी को घेर रखा है और जड़ों का सफ़ेद जाल हर तरफ फैला हुआ है ।

amaryllis in hindi
18 अक्टूबर को लगाए जाने वाले बल्ब

 

इन जड़ों को हल्के हाथों से धीरे धीरे अलग करने पर आपको ढेर सारे नए बल्ब दिखेंगे इनमें से जो आकार में बड़े है (2-3 इंच) उनको अलग नए गमले में लगाने से 4-6 सप्ताह में नए फूल आ जाएंगे, बाकी छोटे बल्ब को अलग गमलों में लगा सकते हैं या किसी को गिफ्ट कर सकते हैं ।

amaryllis in hindi
22 नवंबर को कलियाँ आना शुरू होता है

Amaryllis लिली की देखभाल

धूप

इसे Indoor और Outdoor दोनों तरह से रखा जा सकता है पर जब आप इसे Indoor रखें तो वही रखें जहां indirect sunlight जरूर आती हो ।

Outdoor यह bright indirect sunlight में या ग्रीन शेड में भी चल जाता है ।

पानी

मिट्टी की ऊपरी सतह चेक करते रहे जब भी सतह सूखी लगे तब पानी देते रहिए । रोज पानी देने की आवश्यकता नहीं है , जितनी जरूरत हो उतना ही पानी दीजिये ।

बस इतना ध्यान रखें कि पानी मिट्टी में रुकने न पाये एक्सट्रा पानी hole से जरूर निकल जाना चाहिए । जब कली आने लगे तब यह जरूर ध्यान रखें कि मिट्टी में moist बना रहे लेकिन ज्यादा गीला भी न रहे ।

amaryllis in hindi
गुलाबी रंग मे Amaryllis Lily

खाद रसायन

Potting Soil में 30 से 40 % जरूर मिलाएँ । इसके अलावा flowering सीजन शुरू होने से पहले ही Liquid Fertilizer देते रहे और फूल खतम होने के बाद न दें ।

कीट /रोग

पौधों की समय समय पर जांच करते रहे ताकि किसी भी तरह के Insect का पता उनकी संख्या बढ्ने से पहले ही पता चल जाए ।

मिलीबग अक्सर इस पर अक्सर दिख जाते हैं , इनसे बचने के लिए कई तरह के स्प्रे जिनमे नील तेल प्रमुख है , का उपयोग किया जा सकता है ।

सीजन समाप्त के बाद क्या करें

अप्रैल मई के बाद इसमें फूल आना लगभग बंद हो जाता है और पत्तियाँ बढ्ने लगती हैं जो कि अपने आप में काफी खूबसूरत लगती हैं ।

अगस्त महीने से आप इसमें पानी और खाद आदि देना बहुत कम कर दें और इसकी पत्तियाँ काट कर कहीं अलग किनारे रख दें और फिर अक्टूबर में बाहर निकालें । यह इसका dormant पीरियड होता है और अगले सीजन कि flowering के लिए यह जरूरी है ।

विशेष टिप्स

जैसे ही कली खिलने वाली हो गमले को डाइरैक्ट सन लाइट से बचाकर रखने पर फूल ज्यादा दिन तक सूखता नहीं है ।इसके अलावा विंडो सिल पर जहां हल्की प्रकाश रहता हो डिजाइनर pots मे लगाकर रखने से अलग लुक आता है ।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमे कमेन्ट करके जरूर बताएं , और नीचे दिये गए like बटन को जरूर दबाएँ , ऐसे ही पेड़-पौधों और गार्डेन से जुड़ी रोचक और उपयोगी जानकारी के लिए hindigarden.com से जुड़े रहें , धन्यवाद ।

Happy Gardening..

Leave a Comment