नए जमाने का नया पौधा जो आपके घर को और भी आकर्षक बना देगा | Pilea Plant Care in Hindi

गोलाकार के खूबसूरत पत्तों के साथ यह पौधा सहसा ही किसी का भी ध्यान अपनी ओर खींच लेता है । अपने unique अंदाज़ और टेक्सचर के कारण यह आपको अपने घर को सजाने के लिए मुफीद बनाता है और साथ ही बहुत कम केयर की जरूरत होती है इसे । Pilea care in Hindi

पीलिया को कई नामों से बुलाया जाता है जिनमे प्रमुख हैं चाइनीज़ मनी प्लांट , फ्रेंडशिप प्लांट , मिशनरी प्लांट ,पैनकेक प्लांट , यूएफ़ओ प्लांट आदि । इन नामों के अलग अलग कारण हो सकते हैं जिनमे मुख्यतः इसका बनावट है जो पैनकेक या UFO तश्तरी की तरह दिखता है ।

Pilea plant care in hindi
Beautiful Decorative Plant Pilea

पीलिया का संक्षिप्त परिचय

पीलिया को चीन के दक्षिणी प्रांत Yunnan और Sichuan का मूल पौधा माना जाता है जहां से ये 1940 के दशक मे नॉर्थ यूरोप की तरफ पहुंचा जिसमें नॉर्वे की मिशनरीज़ का प्रमुख योगदान रहा ,इसी के कारण इसे Missionary Plant भी कहा जाता है ।

George Forest पहले यूरोपियन थे जिंहोने 1906 मे दक्षिणी चीन के Yunnan प्रांत मे स्थित Cang Mountain से पीलिया को लेकर गए ।

इसे propagate करना बहुत ही आसान होता है , इस खूबी के कारण चीन और यूरोप मे इसे लोग खुद ही propagate करके फ़्रेंड्स और रिश्तेदारों को खूब गिफ्ट करते हैं जिसके इसको Friendship Plant के नाम से भी बुलाया जाता है ।

वानस्पतिक नामPilea peperomioides
कॉमन नेमपीलिया ,चाइनीज़ मनी प्लांट
मूल निवास स्थानचीन Yunnan & Sichuan Province
इंडोर/आउटडोरदोनों indirect light के साथ
केयर टाइपसामान्य

पीलिया का आकार प्रकार  

यह एक evergreen प्लांट है जिसकी पत्तियाँ हमेशा हरी भरी बनी रहती हैं , पत्तियाँ बेहद चटक हरे रंग की गोलाकार आकृति की होती हैं जिंका व्यास 4 इंच तक हो सकता है ।

यह ऊंचाई मे 1 फूट के आसपास रहता है , बीच मे एक हरा या भूरा तना होता है जिसमे शाखाएँ नहीं होती हैं और इसी से चारों तरफ पत्तियाँ निकलती हैं ।

पीलिया की ही तरह दिखने वाले दो पौधे –

Hydrocotyle vulgaris

Umbilicus rupestris एक succulent प्लांट है जो देखने मे pilea की तरह लगता है ।

Pilea plant care in hindi
Indirect Sunlight मे रखा एक Indoor Pilea

पीलिया कहाँ से खरीदें

आपके आसपास की नर्सरी पर आप माली से पता करवा सकते हैं या उसे ऑर्डर कर सकते हैं ।

इसके अलावा आप आसानी से online pilea ऑर्डर कर भी घर बैठे मंगा सकते हैं ।

फेसबुक पर आप गार्डेनिंग के पेज जॉइन कर सकते हैं वहाँ अपनी डिमांड रख सकते हैं अगर कोई भरोसेमंद seller आपको दिखे तो वहाँ से भी खरीद सकते हैं पर यह ध्यान रहे कि फेसबुक पर कई लोग चीट करने से नहीं चूकते इसलिए थोड़ा सावधानी बरतें या फिर ऑनलाइन ऑर्डर कर दें किसी अच्छी वैबसाइट से ।

पीलिया की केयर कैसे करें

पीलिया के देखभाल में कुछ ही बातों का खास ख्याल रखना होता है जैसे indirect bright sunlight और humidity ।

प्रकाश Sunlight

पीलिया या चाइनीज़ मनी प्लांट के चटकदार हरे रंग के ढेर सारे पत्ते पाने के लिए यह आवश्यक है कि इसे अच्छी मात्रा मे indirect sunlight मिले ।

मीडियम से लेकर bright indirect sunlight बेस्ट हैं पीलिया के पत्ते को हरभरा और shiny बनाए रखने के लिए , इससे पौधों मे नई growth भी सहायता मिलती है ।

Direct लाइट से पीलिया को बचाना चाहिए इससे इसकी पत्तियों के झुलसने का खतरा बना रहता है ।

पीलिया के पौधे को कुछ दिनों के अंतराल पर घुमाते रहना चाहिते ताकि उसके सभी साइड कि पत्तियों को बराबर धूप मिलती रहे ।

ऐसा करने से पौधा हर तरफ से एक जैसा दिखेगा , उसकी पत्तियों का रंग व आकार समान रहेगा व पूरा पौधा ज्यादा आकर्षक लगेगा ।

Pilea plant care in hindi

 पानी Water

पीलिया के सूखने का एक प्रमुख कारण over-watering है ; आपको यह ध्यान रखना होगा पीलिया पौधे को आप उतना ही पानी दें जितना इसे जरूरत हो ।

जब भी आप पानी दें तो पहले देख लें कि क्या मिट्टी की ऊपरी सतह 2 इंच तक सूखी है कि नही जब सूखी लग रही है , तब ही पानी दें ।

पानी देते समय यह ध्यान रहे कि गमले की पूरी मिट्टी भीग जानी चाहिए और तब तक पानी दें जब तक कि पानी गमले के hole से निकलने न लगे ।

गर्मी कि तुलना मे जाड़े मे पीलिया को कम पानी कि आवश्यकता रहती है , बस मिट्टी चेक करते रहिए और उसी अनुसार पानी दें ।

तापमान Temperature

पीलिया की केयर जानने के लिए इसको किस तापमान में रखना है ये जानना बहुत जरूरी है।

कमरे का सामान्य तापमान इसके लिए अच्छा होता है ,पीलिया के लिए आदर्श तापमान 15 से 30 डिग्री C होता है । ऐसा तापमान उत्तर भारत मे 6 से 8 महीने रहता है बाकी महीनों मे आपको विशेष ध्यान देना होगा ताकि यह सूखे न ।

उत्तर भारत में तापमान 30 के ऊपर जाने पर इसे आप इसे ऐसी जगह रखने का प्रयास करें जहां सुबह कि 3-4 घंटे कि धूप मिल जाए उसके बाद direct sunlight न मिले क्यूंकी बहुत तीखी तेज़ धूप पत्तियों के रंग को फीका कर सकती है ।

इसे तापमान मे ज्यादा उतार चढ़ाव पसंद नहीं है इसलिए इसे heating या cooling vents के आसपास न रखें ।

एक छायादार बालकनी या टेरेस कि यह शोभा कई गुना बढ़ा सकता है पर ध्यान रहे कि जब मौसम बहुत सर्द होने लगे तो इसे आप वापस अंदर ले आए जहां इसे indirect light मिलती रहे ।

मिट्टी Soil Mix

इस पौधे के लिए हमे ऐसी मिट्टी तैयार करना होगा जिसमें Overwatering से बचाव का इंतजाम हो मतलब ऐसी मिट्टी जो Well-drained और Porous हो ।

इन 3 materials का इस्तेमाल एक अच्छे mix के रूप में किया जा सकता है –

इस के लिए आप इस माप का प्रयोग कर सकते हैं

Garden Soil       30%

River Sand        30%

Vermi Compost    40%

इसके अलावा आप potting mix मे आप आपके पास availability के हिसाब से perlite , cinder , vermiculite आदि मिला सकते हैं ।

गमला Containers

एक पौधे के लिए 6 से 8 इंच का गमला सही रहेगा ।

गमलों में hole पर्याप्त मात्रा में हो ताकि एक्सट्रा पानी नीचे से निकाल जाए ; soggy soil से pilea  की जड़ें खराब हो जाती हैं ।

Pilea plant care in hindi

आर्द्रता Humidity

जैसा कि हमें पता है pilea एक कम केयर वाला पौधा है , humidity के मामले में भी ऐसा ही है यह किसी भी प्रकार कि कंडीशन झेल सकता है फिर भी मीडियम से हाई humidity इसके लिए थी होगा ।

अगर pilea की पत्तियों के किनारे सूखने लगे तो समझ जाइए कि पौधे को वातावरण मे और नमी चाहिए । इसके लिए आप ड्राई क्लाइमेट वाली जगह पर एक humidifier या फिर पानी से भरी प्लेट जिसमे कुछ pebbles रखे हो पौधे के पास रख सकते हैं ।

Humidity level से यह भी पता चलता हाई कि पौधे को कितनी पानी कि आवश्यकता होती हाई , जिस स्थान पर humidity लेवेल ज्यादा होगा वहाँ pilea को कम पानी देने कि अवश्यकता होगी ।

खाद Fertilizer

अपनी चटक और हरी पत्तियों को खूबसूरत बनाएँ रखने के लिए इसे गर्मियों मे खूब पोषक तत्वों की आवश्यकता रहती है जिससे इससे नई ग्रोथ मे सहायता मिलती है।

महीने में 2 बार Pilea को liquid fertilizer देना जरूरी होता है इसके लिए आप घर पर ही liquid fertilizer बना सकते हैं या फिर seaweed fertilizer का इस्तेमाल कर सकते हैं।

जब भी पौधे को खाद देना हो पौधों को कुछ समय पूर्व पर्याप्त रूप से पानी दें ताकि जड़ व मिट्टी moist हो जाए ; इससे जड़ों को मजबूती प्रदान होती है और तरल खाद को जड़ों द्वारा अच्छे से absorb किया जा सकता है ।

जाड़ों में खाद : जाड़ों के मौसम में पौधा dormant हो जाता है इसलिए जाड़े में कोई खाद न दें ।

कीट / रोग Insects

पौधों की समय समय पर जांच करते रहे ताकि किसी भी तरह के Insect का पता उनकी संख्या बढ्ने से पहले ही पता चल जाए ।

गर्मियों में तापमान बढ्ने के साथ Spider mites अक्सर दिख जाते हैं , इनसे बचने के लिए पानी स्प्रे कर पत्तियों को कुछ दिनों के अंतराल पर धुलते रहिए ।

Pilea plant care in hindi
चाइनीज़ मनी प्लांट हंगिंग पॉट मे भी लगा सकते हैं

विशेष नोट

1-    पीलिया की पत्तियाँ ही उसके आकर्षण का केंद्र होती हैं , अगर उसकी सफाई पर आप ध्यान देंगे तो वह कई गुना ज्यादा आकर्षक और stylish लग सकता है ।

इसके लिए आपको बस एक पतले सूती कपड़े से उसकी पत्तियों को हल्के व नरम हाथों से रगड़ कर साफ करना है इससे पीलिया की पत्तियाँ shine करने लगती हैं और जब आप उसकी सभी पत्तियों को साफ कर लेते हैं तो पूरा पौधा खिल जाता है ।

ऐसा करने से पत्तियों द्वारा प्रकाश संसलेषण की प्रक्रिया भी तेज़ हो जाती है ।

2-    Pilea को इसकी टहनी या फिर पत्ती से propagate किया जाता है । पत्तियों को पानी में रखने से उसमें जड़ें आने लगती हैं पर यह धैर्य वाला प्रोसैस है इसमें सप्ताह तक लग सकते हैं और आपको इसका पानी भी लगातार change करते रहना होगा ।

पुराने और mature पौधे से मिट्टी के नीचे से नए pups या नए पौधे निकालने लगते हैं जिन्हें अलग करके भी आप नए पौधे तैयार कर सकते हैं और अपने करीबी लोगों को गिफ्ट कर सकते हैं ।

Pilea plant care in hindi
Pupps से आप नए पौधे तैयार कर सकते हैं

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमे कमेन्ट करके जरूर बताएं , और नीचे दिये गए like बटन को जरूर दबाएँ , ऐसे ही पेड़-पौधों और गार्डेन से जुड़ी रोचक और उपयोगी जानकारी के लिए hindigarden.com से जुड़े रहें , धन्यवाद ।

Happy Gardening..

Leave a Comment