चुकंदर के फायदे और नुकसान क्या है | Beetroot in Hindi

Beetroot in Hindi

चुकदंर तो हम सभी ने खूब खाया होगा। चुकदंर को अग्रेजी में Beetroot कहा जाता है। चुकदंर का जूस और फल हमें सबसे ज्यादा सर्दियों के मौसम में देखने को मिलता है। चुकदंर खाने में स्वादिष्ठ होता है कि शायद ही कोई व्यक्ति इसे खाने से मना करें। Beetroot in hindi

लेकिन आप शायद ही जानते हों कि चुकदंर खाने के साथ हमारे शरीर के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इसे खाने से शरीर की कमजोरी तो दूर होती ही है। साथ ही हमारा शरीर कई रोगों से भी मुक्त हो जाता है। तो चलिए आज हम अपनी इस पोस्ट में आपको चुकंदर से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में बताते हैं।

चुकंदर कैसा होता है Beetroot in hindi

चुकंदर एक फल होता है जो कि सर्दियों के मौसम में हमें मिलता है। ये फल भी अमरूद और सेब की तरह होता है, लेकिन आकार में उससे छोटा होता है। इसे काटने पर ऐसा लगता है मानो इसमें लाल रंग भरा गया है।

इसीलिए खून की कमी होने पर पर सबसे ज्यादा चुकंदर खाने की सलाह दी जाती है। इसे आप सर्दी की शुरूआत से लेकर अंत तक बाजार में देख सकते हैं। इसे आप सब्जी और फल विक्रेता से बड़ी ही आसानी से खरीद सकते हैं और खा भी सकते हैं।

Beetroot in hindi

चुकंदर खाने के फायदे

एनीमिया दूर करने मेंचुकंदर लाल रंग का होता है। ऐसे में जिनके शरीर में खून की कमी होती है, उनके लिए चुकंदर फायदेमंद होता है। ऐसे लोगों को रोजाना चुकंदर के एक गिलास रस का सेवन करना चाहिए। इससे उनके शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है। साथ ही शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाता है। जो कि एनीमिया को खत्म करता है।

डायबिटीज में लाभदायकडायबिटीज 2 के मरीजों के लिए चुकंदर खाना फायदेमंद होता है। वो लोग चुकंदर को कच्च सलाद या उबालकर भी खा सकते हैं। इससे उनकी डायबिटीज हमेशा नियंत्रण में रहेगी। इसके साथ ही चुकंदर का सेवन ब्लड प्रेशर के मरीजों को भी करना चाहिए।

हृदय के लिए लाभदायकहृदय हमारे शरीर का वो अंग होता है, जिसके बिना हम एक पल भी जीवित नहीं रह सकते। ऐसे में चुकंदर का रस पीना हृदय के लिए भी लाभदायक रहता है। चुकंदर का रस दिल का दौरा पड़ने की संभावना को कम करता है। साथ ही शरीर में रक्त संचार को गति देता है।

नंपुसकता दूर करने मेंपुराने जमाने में नंपुसकता को भगाने के लिए लोग चुकंदर का सेवन किया करते थे। साथ ही आज भी इसका सेवन पुरूष और महिलाएं कामेच्छा की इच्छा शाक्ति को बढ़ाने के लिए करती हैं। इसमें अच्छी मात्रा में नाइट्रेट होता है, जो कि कामेच्छा शाक्ति को बढ़ाने में मदद करता है।

मासिकधर्म में लाभदायकमासिकधर्म महिलाओं में हर महीने होता है। जिससे उन्हें खून की हानि होती है। इससे उनका शरीर आलसी और कमजोर हो जाता है। इससे बचने के लिए उन्हें चुकंदर के जूस का सेवन करना चाहिए। ये उनकी कमजोरी को दूर करने में मदद करता है। साथ ही खून की हानि को भी पूरा करता है।

Beetroot in hindi
कटे हुये चुकंदर का अंदर का भाग

त्वचा के लिएमहिलाओं में हमेशा अपने चेहरे को लेकर चिंता सताती रहती है। त्वचा पर होने वाले दाग धब्बों से चुकंदर हमें छुटकारा दिलाता है। इसका जूस या इसका फल खाने से त्वचा पहले से और ज्यादा जमकदार हो जाती है। साथ ही चेहरे की झुर्रियां भी गायब हो जाती हैं। क्योंकि चुकंदर में अच्छी मात्रा में फोलेट और फाइबर पाया जाता है।

चुकंदर को कैसे खाएं

चुकंदर को आप कई तरीकों से खा सकते हैं। क्योंकि ये फल, सब्जी और सलाद सभी रूपों में बेहद स्वादिष्ठ लगता है। आपको ये जिस भी रूप में अच्छा लगे उसी तरह से आप इसे खा लीजिए। ये आपके शरीर को पूरा लाभ देगा।

कच्चा चुकंदर खाएंचुकंदर खाने का सबसे अच्छा और बेहतर तरीका ये है कि आप इसे सीधा खरीदे और धोएं, फिर तुरंत खा जाएं। इसे आप चाहे तो चाकू से छोटे छोटे टुकड़ों में भी काटकर खा सकते हैं।

कच्चा चुकंदर खाने का समय सबसे अच्छा सुबह माना जाता है। साथ ही यदि आप इसे इस तरह खाते हैं, तो इसके पोषक तत्व बिना नष्ट हुए आपके शरीर में सीधे चले जाते हैं। जिसका लाभ आपके शरीर को होता है।

Beetroot in hindi
चुकंदर का जूस

चुकंदर का परांठाआप चाहे तो नाश्ते में चुकंदर का परांठा भी बना सकते हैं। इसके लिए आप चुकंदर को घिसकर बारीक कर लीजिए और उसके बाद इसमें नमक, लाल मिर्च, हरा धनिया, अजवाइन आदि मिला दीजिए। इससे आपका सुबह का नाश्ता भी हो जाएगा और आप चुकंदर भी खा लेंगे।

चुकंदर का अचारआप चुकंदर का अचार भी बना सकते हैं। इसके लिए आप इसे छोटे टुकड़ों में काट लीजिए और फिर इसमें सिरका, नमक और हरी मिर्च मिला दीजिए। अब आप इस अचार को एक सप्ताह तक भोजन के साथ खा सकते हैं। बस ध्यान ये रखें कि इसे ठंडी जगह पर ही रखें और अचार उतना ही बनाएं जितना आप एक हप्ते में खा सकते हैं। क्योंकि एक हप्ते बाद ये अचार खराब होने लगता है।

चुकंदर की चटनीआप चाहे तो चुकंदर की चटनी भी बना सकते हैं। इसके लिए आप चुकंदर को छोटे टुकड़ों में काटकर इसमें हरा धनिया, पुदीना, लहसुन, नीबू का जूस, नमक, लाल मिर्च पाउडर आदि मिला लें और फिर पीस लें। अब आप इसे जब चाहे परांठे, पकोड़े, रोटी आदि के साथ खा सकते हैं।

Beetroot in hindi
खेत मे लगे चुकंदर के पौधे

चुकंदर खाने के नुकसान

किडनी स्टोन की समस्याचुकंदर का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से आपको किडनी स्टोन की समस्या उतपन्न हो जाती है। क्योंकि चुकंदर में उच्च मात्रा में कैल्शियम और विटामिन- सी की मात्रा पाई जाती है।

मूत्र का रंग बदलनाचुकंदर का ज्यादा मात्रा में सेवन करने से आपके मूत्र का रंग बदल जाता है। जो कि एक तरह से हमारे शरीर में हो रहे किसी बदलाव का सूचक होता है।

त्वचा पर चकत्तेचुकंदर का अधिक सेवन करने से त्वचा पर चकत्ते आ जाते हैं। जो कि सही नहीं होता।

पेट में दर्दचुकंदर का अधिक सेवन करने से आपके पेट में दर्द या ऐठन की समस्या भी बन सकती है। जो कि बेहद ही पीड़ा दायक होता है।

कलर स्टूल की समस्याचुकंदर का ज्यादा सेवन करने से आपको कलर स्टूल की समस्या से भी गुजरना पड़ सकता है।

ज्यादा अच्छा यही रहेगा कि चुकंदर कि नियंत्रित मात्रा का ही सेवन करें और चाहे तो किसी डॉक्टर से परामर्श भी ले सकते हैं ।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमे कमेन्ट करके जरूर बताएं , और नीचे दिये गए like बटन को जरूर दबाएँ , ऐसे ही पेड़-पौधों और गार्डेन से जुड़ी रोचक और उपयोगी जानकारी के लिए hindigarden.com से जुड़े रहें , धन्यवाद ।

Happy Gardening..

writer : rohit yadav

Leave a Comment