पीले रंग के कैलेंडुला जरूर लगाए अपने घर मे | Calendula Flower in Hindi

नवंबर से अप्रैल तक खिलने वाले पीले और नारंगी रंग के कैलेंडुला आपके गार्डेन को और भी ज्यादा ब्राइट कलर से भर सकते हैं और सबसे अच्छी बात यह की यह आसानी से लगाए जा सकते हैं ।

Calendula के फूल 12 से 15 दिन तक खिले रहते हैं जिससे यह गार्डेनर का पसंदीदा फूल माना जाता है ।

बड़े लान को कवर करने , बॉर्डर बनाने के लिए इसे लगाया जा सकता है साथ ही containers मे भी लगाकर आप बालकनी या खिड़की पर सजा सकते हैं ।

Calendula Flower in Hindi

कॉमन नामCalendula, Gul-e-Ashrafi
वानस्पतिक नामCalendula officinalis
बीज लगाने का समयJan-Jun-Sep
ट्रांसप्लांट करने का समयFeb-Aug-Sep
फूल खिलने का समयNov-Apr
फूलों के रंगYellow, orange
पौधे की ऊंचाई30-45 Semi
सूरज की रोशनीFull
पानी /सिंचाईNormal
किस तरह लगाएँBeddings,  containers, window boxes

बीज कब लगाएँ

यह बीज से बहुत आसानी से लगाया जा सकता है , बीज लगाने के लगभग  दिनों के बाद इनमे फूल आने लगते हैं । सर्दियों मे सबसे पहले आने वाले फूलों मे calendula flower होते हैं ।

इनके बीजों को 6 से 8 सप्ताह का समय लगता है पौध तैयार होने मे ।

Calendula Flower in Hindi

इसके बाद इसे flower bed या किसी गमले मे लगाया जा सकता है । जमीन पर लगा रहे हैं तो यह ध्यान रहे कि कम से 30 सेमी यानि 1 फूट की दूरी पर पौध लगाए पास पास रहने पर अच्छी ब्लूमिंग नहीं होती है ।

मिट्टी कैसी तैयार करें

जमीन में लगा रहे हैं तो जमीन को अच्छे से 1 फुट तक फावड़े से गुड़ाई कर लें , मतलब पूरी क्षेत्र जहां इसे लगाना है वो मिट्टी भुरपुरी और पोरस हो जाए ताकि जड़ों को फैलने का पूरा स्थान मिल जाए।

मिट्टी में अच्छी मात्र में गोबर की खाद भी मिला लें जिससे पत्तियाँ घनी और सेहतमंद बनी रहे ।

गमले मे लगाने के लिए गार्डेन की मिट्टी , कोकोपीट और गोबर की खाद को बराबर हिस्से मे मिलकर लगाएँ । एक पौधा लगाने के लिए कम से कम 6 इंच का गमला बढ़िया रहेगा जिसमे तली मे 3-4 होल अवश्य कर लें ।

पत्तियों के पीले होने के 10 कारण और निवारण | पत्तियां पीली क्यों हो जाती है

Calendula Flower in Hindi

सन लाइट Sunlight

इसके लिए कम से कम 4-5 घंटे की direct धूप बहुत आवश्यक है । छायादार जगह पर फूलों की संख्या और क्वालिटी दोनों खराब रहता है ।

पानी Watering

गर्मियों मे हरियाली बनी रहे और पत्तियाँ सूखने न लगे इसके लिए नियमित पानी की आवश्यकता रहती है । मिट्टी चेक करते रहें और उसी अनुसार पानी दें ।

खाद Fertilizers

मिट्टी में खाद मिलने से बीच बीच में देने की उतनी आवश्यकता नहीं पड़ती , फिर भी गमले मे लगे पौधों को 15-20  दिन में एक बार liquid fertilizer दिया जा सकता है ।

कीट रोग आदि

किसी भी तरह के कीट आदि से बचाव के लिए 15-20 दिन पर neem oil को गरम पानी मे मिलाकर छिड़काव किया जा सकता है ।

 विशेष टिप

इसको आप कट फ्लावर की तरह भी इसे use कर सकते हैं , फूल के साथ तना काटकर उसे किसी flower vase मे डाल दें और पानी भर दें , यह आराम से 5-6 तक चल जाएगा ।

फूल सूख जाने के बाद आप इनके फूलों से आसानी से बीज collect किए जा सकते हैं । बीज तभी collect करने लायक होते हैं जब फूल पूरी तरह से सूख गया हो ।

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमे कमेन्ट करके जरूर बताएं , और नीचे दिये गए like बटन को जरूर दबाएँ , ऐसे ही पेड़-पौधों और गार्डेन से जुड़ी रोचक और उपयोगी जानकारी के लिए hindigarden.com से जुड़े रहें , धन्यवाद ।

Happy Gardening..

Leave a Comment